7th Pay Commission: खुशखबरी, 18 महीने के एरियर पर बड़ा फैसला

कर्मचारियों के लिए यह साल खुशियों भरा रहा है, जहां सरकार द्वारा उनके महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में 4% कि बढ़ोतरी कि गई. उसके बाद ऐसी खबरें आ रही हैं कि सरकार द्वारा 18 महीने के डीए एरियर को लेकर चर्चा जोरों पर है.

अगर सब कुछ ठीक रहा तो दीपावली के बाद केंद्रीय कर्मचारियों को केंद्र सरकार की ओर से खुशियों भरी सौगात मिल सकती है।

केंद्रीय कर्मचारियों का डीए एरियर 18 महीने से करोना वायरस के समय से बाकी है, जिसे सरकार ने उस समय फ्रीज कर दिया था और उन्हें ऐसा आश्वासन दिया गया था कि, उनका यह पैसा उन्हें प्रदान कर दिया जाएगा।लेकिन इतने दिनों बाद अभी तक उनका यह पैसा बकाया है।  

जिसके लिए केंद्रीय कर्मचारी भी पुरजोर कोशिश कर रहे हैं और लगातार सरकार पर दबाव बना रहे हैं। इसमें शिव गोपाल मिश्रा जी ने कैबिनेट सचिव को पत्र के जरिए सूचित किया है कि,कर्मचारियों का जो डीए एरियर का पैसा रुका हुआ है उसे जल्दी ही कर्मचारियों को भुगतान कर दें। 

7th Pay Commission 2022

आज हम अपने आर्टिकल में आपको विस्तारपूर्वक बताएंगे कि,सरकार द्वारा अगर कर्मचारियों को 18 महीने का डीए एरियर का पैसा दे दिया जाता है, तो उन्हें कितना फायदा होगा।

इसके अलावा केंद्र सरकार अपने कर्मचारियों को किस-किस तरह के अलाउंस प्रदान करती है। 

साथ ही साथ हम यह भी जानेंगे कि कितनी बढ़ोतरी हुई है 4% महंगाई भत्ता जुड़ जाने के बाद केंद्रीय कर्मचारियों की प्रोविडेंट फंड, ग्रेजुएटी एवं तनख्वाह मे एवं केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता एवं महंगाई राहत केंद्र सरकार द्वारा कितनी बार बढ़ाया जाता है।

तो बने रहे हमारे आर्टिकल में अंत तक, ताकि हम यह सारी चर्चा आज आपके साथ कर सकें। तो आइए जानते हैं।

केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगी राहत

अगर केंद्र सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के हित में फैसला ले लेती है तो उन्हें बहुत बड़ी राहत मिलेगी, क्योंकि लंबे समय से केंद्रीय कर्मचारी अपने बकाए डीए एरियर की मांग कर रहे थे और सरकार के ऊपर बकाया डीए एरियर को लेकर दबाव बना रहे थे।  

केंद्रीय कर्मचारी डेढ़ साल के बकाए महंगाई भत्ता और महंगाई राहत के एरियर के भुगतान करने की सरकार से अपील कर रहे थे।

ऐसी भी जानकारी मिली थी कि केंद्रीय कर्मचारियों द्वारा यह कहा जा रहा था कि सरकार अगर उनके डीए एरियर का भुगतान नहीं करती है तो अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

जनवरी 2020 से जून 2021 तक का महंगाई भत्ते का एरियर केंद्रीय कर्मचारियों को नहीं प्रदान किया गया है। जिस समय कोरोनावायरस अपने चरम पर था।

इसीलिए सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का डीए फ्रीज कर दिया था परंतु सरकार ने आश्वासन दिया था कि जैसे ही परिस्थितियां सामान्य हो जाएगी, उनका यह पैसा जल्द ही भुगतान कर दिया जाएगा।

अगर सरकार द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों का डीए एरियर का पैसा प्रदान कर दिया जाता है तो केंद्रीय कर्मचारियों के खाते में लाखों रुपए आ सकते हैं।

ये भी अवश्य पढ़ें:

लगभग 2,18,200 रुपए केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेंगे

अगर सरकार द्वारा 18 महीने का डीए एरियर केंद्रीय कर्मचारियों को प्रदान कर दिया जाता है तो level-1 के कर्मचारियों से लेकर के लेवल 14 के कर्मचारियों तक को अलग-अलग डीए एरियर मिलेंगे।

क्योंकि ग्रेड पे कर्मचारियों के लिए अलग-अलग होते हैं जैसे कि level-1 के कर्मचारियों को 11,880 रुपए से 37,554 रुपए तक केंद्र सरकार द्वारा सातवें वेतनमान के अनुसार दिए जाएंगे।

लेवल 14 के केंद्रीय कर्मचारियों को सातवें वेतनमान के अनुसार1,44,200 रुपए से लेकर 2,18,200 रुपए मिलेंगे।

महंगाई भत्ता महंगाई राहत क्या होता है?

केंद्रीय सरकार केंद्रीय कर्मचारियों एवं पेंशनर्स को साल में दो बार महंगाई भत्ता और महंगाई राहत प्रदान करती है। महंगाई भत्ता जो केंद्रीय कर्मचारी काम कर रहे हैं उनको दिया जाता है।

इसके अलावा महंगाई राहत उन पेंशनर्स को दिया जाता है जो सेवानिवृत्त होकर घर पर आराम से रह रहे हैं।

महंगाई भत्ता और महंगाई राहत कर्मचारियों और पेंशनर्स को इसलिए दिया जाता है कि, वह बढ़ती महंगाई के साथ अपने रहन-सहन के स्तर का सामंजस्य स्थापित कर सकें।

इसके अलावा सरकार द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों को बहुत सारे अलाउंस भी दिए जाते हैं, जैसे ट्रैवल एलाउंस, मेडिकल एलाउंस, इसके अलावा केंद्र सरकार द्वारा कर्मचारियों को HRA यानी कि होम रेंट अलाउंस भी प्रदान किए जाते हैं।

ग्रेजुएटी, प्रोविडेंट फंड यह सभी सरकार द्वारा प्रदान किए जाते हैं और हर 6 महीने पर महंगाई भत्ता में बढ़ोतरी की जाती है। भविष्य निधि संगठन द्वारा कर्मचारियों के प्रोविडेंट फंड को भी बढ़ाकर देने की घोषणा की गई है।

ऑटोमेटिक पे रिवीजन सिस्टम लागू होने वाला है

जैसा कि आपको पता ही होगा हर 10 साल के अंदर में एक वेतन आयोग का गठन किया जाता है। इसीलिए सातवें वेतन आयोग के आने के बाद, अभी तक आठवां वेतन आयोग का गठन शुरू हो जाना चाहिए था।

लेकिन सरकार द्वारा अभी तक इसके बारे में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है और ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि अब केंद्रीय कर्मचारियों के लिए ‘ऑटोमेटिक पे रिवीजन सिस्टम’ लागू कर दिया जाएगा। 

इसके अंतर्गत कर्मचारियों को उनके परफॉर्मेंस के आधार पर ही तनख्वाह प्रदान की जाएगी। जिससे डेढ़ करोड़ केंद्रीय कर्मचारी एवं पेंशनर्स लाभान्वित होंगे।

फिलहाल इस सिस्टम को शुरू नहीं किया गया है लेकिन सरकार द्वारा जल्द ही इसे शुरू किया जा सकता है और जहां तक आठवां वेतन आयोग की बात है, इसके सन्दर्भ में सरकार का यह कहना है, कि 2024 के बाद इसके बारे में चर्चा की जाएगी।

तब तक के लिए कर्मचारियों को इंतजार करना होगा।

आपको यहां बताते चलें कि 1 जनवरी 2016 को सातवां वेतन आयोग लागू किया गया था जिसके बाद ग्रॉस सैलेरी में 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी और अगर कर्मचारियों के लिए ऑटोमेटिक पे रिवीजन सिस्टम के द्वारा तनख्वाह प्रदान की जाने लगेगी, तो सातवें वेतन आयोग के दौरान फिटमेंट फैक्टर की व्यवस्था भी समाप्त हो जाएगी।

निष्कर्ष

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा आज का यह आर्टिकल पसंद आया होगा। हमने आज के इस आर्टिकल में केंद्रीय कर्मचारियों के 18 महीने के बाकी डीए एरियर को लेकर चर्चा की है। केंद्रीय कर्मचारियों को सरकार द्वारा क्या-क्या सुविधाएं प्रदान की जाती है इसके बारे में भी आपको बताया है।

आने वाले कुछ दिनों में जैसे ही सरकार 18 महीने के बाकी डीए एरियर प्रदान करने के बारे में तारीख की घोषणा करती है हम आपको इसके बारे में सूचित करेंगे। हमारे आर्टिकल में अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद।

Leave a Comment