EPFO: पेंशनर्स घर बैठे ऑनलाइन जमा कर सकेंगे जीवन प्रमाण-पत्र

आप सभी पाठकों का हमारे अनुच्छेद में एक बार फिर स्वागत है। आज का हमारा यह अनुच्छेद सभी ईपीएफओ पेंशनर्स के लिए एक बहुत ही बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। उन सभी ईपीएफओ पेंशनर्स के लिए जिन्हें बार-बार अपने जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे उन सबके लिए एक बड़ी राहत की खबर है कि अब वे डिजिटल रूप से  बिना कार्यालय गए अपने जीवन प्रमाण पत्र जमा करा सकेंगे।

आज के हमारे इस अनुच्छेद में हम आपको सभी ईपीएफओ पेंशनर्स को अपने जीवन प्रमाण पत्र को डिजिटल रूप से जमा कराने के बारे में सभी विशेष और महत्वपूर्ण जानकारियां देने वाले हैं। जैसे कि ईपीएफओ पेंशनर्स अपना जीवन प्रमाण पत्र डिजिटल रूप से कैसे जमा करा सकते हैं। इसमें उनकी सहायता कौन-कौन कर सकते हैं।

साथ ही वह कौन से माध्यम है जिनकी सहायता से आप अपना जन्म प्रमाण पत्र जमा कराने के लिए ले सकते हैं। तो इन महत्वपूर्ण जानकारियों को जानने के लिए हमारे साथ हमारे अनुच्छेद में बने रहे और  बहुत ही ध्यान से दिए गए जानकारियों को पढ़िए और समझिए।

EPFO ने ट्वीट करके दि है जानकारी

ईपीएफओ ने अपने पेंशनर्स को बार-बार कार्यालय जाकर अपने दस्तावेजों को जमा करने से होने वाली परेशानियों से निजात दिलाने की कोशिश की है और आधिकारिक रूप से ट्वीट करके यह स्पष्ट किया है कि पेंशनर्स को बार-बार कार्यालय जाने की जरूरत नहीं है वे अपने जीवन प्रमाण पत्र को घर बैठे डिजिटल रूप से जमा कर सकते हैं।

अवश्य पढ़ें:

बार-बार कार्यालय जाने की कोई जरूरत नहीं 

कमाऊ के तकरीबन 25000 पेंशनर्स  को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा एक बहुत बड़ा तोहफा मिला है। इस सुविधा के द्वारा अब सभी ईपीएफओ पेंशनर्स बिना कार्यालय गए हैं अपने कई काम डिजिटल रूप से घर बैठे ऑनलाइन ही कर सकेंगे। आइए जानते हैं किस प्रकार हम इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं l 

जाने क्या हैं इसके तरीके

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने आधिकारिक तौर पर या घोषणा कर दी है कि कर्मचारी पेंशन योजना EPF 95  पेंशनर्स अब बिना कार्यालय गए हैं डिजिटल रूप से अपना जीवन प्रमाण पत्र कार्यालय में जमा करवा सकते हैं और उससे भी अच्छी बात यह है कि यह कार्य आप कभी भी कर सकते हैं यानी कि इसके लिए कोई तिथि निर्धारित नहीं की गई है ।

आप अपनी सहूलियत के हिसाब से जब चाहे तब अपना जन्म प्रमाण पत्र जमा करा सकते हैं।  जिस तिथि को आप अपना जीवन प्रमाण पत्र कार्यालय में जमा करेंगे उसके 1 वर्ष तक यह वैध होगा।

दी गई सुविधा में बताया गया है कि अब सभी ईपीएफ पेंशनकर्ता अपने घर पर ही अपने जीवन प्रमाण पत्र को डिजिटल रूप से जमा करा सकते हैं। जिसे करने के लिए आपको कई सारे ऑप्शन दिए गए हैं। जैसे कि मोबाइल नंबर जो आधार से लिंक हो,आधार संख्या, पीपीओ नंबर, बैंक अकाउंट डिटेल्स के द्वारा जन सेवा केंद्र से आप अपना जीवन प्रमाण पत्र डिजिटल रूप से जमा करवा सकते हैं।

IPPB से भी मिलेगी मदद

इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक की डोर स्टेप डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट की सहायता से अब आपको एक छोटी सी शुल्क का भुगतान करने के बाद आपके घर से अपको जन्म प्रमाण पत्र को जमा कराने की सुविधा मिलेगी। निर्धारित शुल्क का भुगतान करने के बाद डाकिया पेंशनर्स के घर आकर उनका जीवन प्रमाण पत्र जमा करवाएंगे।

जीवन प्रमाण पत्र जमा कराने के और भी हैं विकल्प

और भी कई दूसरे विकल्प और जगह है जिसकी सहायता से आप अपना जीवन प्रमाण पत्र जमा करा सकते हैं।यह सुविधा आपको उमंग ऐप पर भी उपलब्ध कराई गई है। इसके साथ ही ईपीएफओ के क्षेत्रीय कार्यालय में जाकर भी आप अपना जीवन प्रमाण पत्र जमा करवा सकते है।

कॉमन सर्विस सेंटर में  जाकर ,पोस्ट ऑफिस में  या पोस्टमैन के पास, इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक या फिर आपके नजदीक के ईपीएफओ ऑफिस में। इन सभी जगहों में से कहीं भी  आप अपना जीवन प्रमाण पत्र जमा करा सकते हैं। और बार-बार कार्यालय जाने की परेशानी से भी छुटकारा पा सकते हैं।

उमंग एप से जीवन प्रमाण पत्र जमा करने का तरीका

१. सबसे पहले पेंशनर्स इस दिए गए लिंक पर क्लिक करें। (https://jeevanpramaan.gov.in/)

२. इस ऐप को डाउनलोड करें फिर लॉन्च करें इसके बाद अपना मोबाइल नंबर और आधार संख्या दर्ज कराएं। इसके बाद जेनरेट ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक करें। इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपका वह नंबर जो आधार से लिंक किया हुआ है। उस पर एक OTP (वन टाइम पासवर्ड) आयेगा।

३. अब उस ओटीपी पर मिले अंकों को दर्ज करें और फिर ओके प्रेस करें।

४. इस वेरिफिकेशन के पूरा होने के बाद आपकी पहचान प्रमाणित कर दी जाएगी। इसके बाद आपको एक दूसरा पेज दिखाई देगा।

५. दूसरे पेज पर पेंशन कर्ता का नाम, उनका पीपीओ नंबर, पेंशन किस प्रकार का है, मंजूरी देने वाला प्राधिकरण, वितरण एजेंसी, एजेंसी और उसका अकाउंट नंबर की जानकारी भरनी होगी।

६. अब इसके बाद आपको स्कैन फिंगर के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। और फिर  फिंगर या आइरिश स्कैनिंग के द्वारा अपने बायोमेट्रिक पहचान को प्रमाणित करना होगा।

७. बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन को पूरा करने के बाद आपके लिए एक जीवन प्रमाण पत्र तैयार किया जाएगा । जिसके बाद एक्नॉलेजमेंट के लिए एक SMS पेंशनर के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा।

८. बस इसके बाद आप प्रिंट ऑप्शन पर क्लिक करें और अगर आपको जरूरत है तो प्रिंट आउट निकाले। आपकी जीवन प्रमाण पत्र की एक कॉपी खुद-ब-खुद पीडीए को डिजिटल रूप से चली जाएगी और वहां जमा कर दी जाएगी।

निस्कर्ष:

आशा करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी के माध्यम से अब सभी ईपीएफओ पेंशनर्स को बार- बार कार्यालय जाने की परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा और वे आराम से घर बैठे ही अपना काम डिजीटल रूप से  अपना जन्म  प्रमाण पत्र जमा करवा सकेंगे।

अपना कीमती समय देकर हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।आपसे फिर मुलाकात होगी हमारे अगले अनुच्छेद में तब तक के अपना खयाल रखें, नमस्कार !

Leave a Comment